प्लाज्मा डोनेशन के नाम पर हो रही ठगी, दिल्ली के स्पीकर रामनिवास गोयल हुए शिकार

जहां एक तरफ दिल्ली में कोरोना के चलते हाहाकार मचा हुआ है और कोरोना मरीजों के लिए कोरोना से ठीक हुए मरीजों का प्लाज़्मा संजीवनी बूटी से कम नहीं है। वहीं दूसरी तरफ प्लाज़्मा डोनेशन के नाम पर दिल्ली में शातिर ठग लोगों की मजबूरी का फायदा उठाते हुए उनको चूना लगा लगा रहे हैं। लेकिन इस बार ठगी के शिकार कोई और नहीं बल्कि दिल्ली विधानसभा के स्पीकर राम निवास गोयल हुए हैं।

क्या है पूरा मामला ?

दरअसल रामनिवास गोयल के रिश्तेदार पुनीत अग्रवाल के ससुर जो कोविड से पीड़ित हैं। उनको प्लाज्मा की जरूरत थी तो पुनीत अग्रवाल ने सोशल मीडिया पर प्लाज़्मा की मांग की। इसी बीच पुनीत को एक फोन आया जिसमें वह शख्स अपना नाम राहुल ठाकुर बता रहा था और आर एम एल का डॉक्टर बता रहा था। राहुल ठाकुर ने पुनीत से कहा कि वह कोविड से ठीक हुआ है और वह अपना प्लाज्मा उनके ससुर को दे सकता है। लेकिन इसी बीच पुनीत को कहीं और से प्लाज्मा डोनर मिल गया लेकिन पुनीत ने राहुल से कहा कि अगर किसी को जरूरत पड़ी तो वह उसका नंबर दे देगा।

कुछ दिन बाद राम निवास गोयल से सिविल लाइन इलाके के रहने वाले अमित ने संपर्क किया और कहा कि उसको अपने पिता के लिए प्लाज्मा की जरूरत है । जिसके बाद राम निवास गोयल ने अपने रिश्तेदार पुनीत से राहुल का नंबर मांगा और राहुल से संपर्क किया। गोयल ने राहुल से संपर्क किया और कहां कि उनके किसी जानकार को प्लाज्मा चाहिए तो राहुल ने राम निवास गोयल से भी कहा कि वो आरएमएल का डॉक्टर है वो कोविड से ठीक हुआ है और वह अपना प्लाज्मा दे सकता है।

इसके बाद राहुल ने कहा कि उसके पास अस्पताल पहुंचने के पैसे नहीं है उसको कैब के लिए 450 रुपए की ज़रूरत है जिसके बाद तुरंत राम निवास गोयल ने राहुल ठाकुर के खाते में 450 रुपए भिजवाए। लेकिन राहुल ठाकुर यह कहता रहा कि उसके खाते में पैसे नहीं पहुंचे हैं और दोबारा पैसे भेजने के लिए कहता रहा जिसके बाद राम निवास गोयल को उस पर शक हुआ तो राहुल ठाकुर ने राम निवास गोयल का फोन उठाना बंद कर दिया।

पूरा मामला बताते हुए राम निवास गोयल ने दिल्ली पुलिस को अपनी शिकायत दर्ज कराई और दिल्ली पुलिस ने आरोपी राहुल ठाकुर को गिरफ्तार कर लिया। राहुल ठाकुर ने अपनी पूछताछ में खुलासा किया है कि उसका असली नाम राहुल ठाकुर नहीं बल्कि अब्दुल करीम है। उसने अपनी पूछताछ में यह भी खुलासा किया है कि अब तक ब्लड डोनेशन के नाम पर वह कई लोगों को ठग चुका है। बरहाल पुलिस ने इस को गिरफ्तार कर लिया है और अपराध में इस्तेमाल हुआ मोबाइल फोन भी बरामद कर लिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *