भारत और चीन के बीच विवाद खत्‍म करने को हुई मेजर जनरल स्‍तर की बैठक

भारत और चीन ने पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर विवाद खत्‍म होता नहीं दिखाई दे रहा। इसी विवाद को सुलझाने के लिए और डिस्‍इंगेजमेंट प्रक्रिया को आगे बढ़ाने के लिए कल दोनों देशों के मेजर जनरल स्‍तर के अधिकारियों के बीच सामान्य सामान्य-स्तरीय बैठक हुई थी। एलएसी के चीनी पक्ष में दौलत बेग ओल्डी (डीबीओ) क्षेत्र में सीमा कर्मियों की बैठक सुबह 11 बजे बातचीत शुरू हुई और शाम 7:30 बजे खत्‍म हुई।

यह बैठक मुख्य रूप से पिछले हफ्ते दोनों सेनाओं के कोर कमांडरों के बीच हुई बातचीत के पांचवें दौर में हुए फैसले को लागू करने पर केंद्रित थी। दोनों पक्षों ने कई पाइंटस में डिस्‍इंगेजमेंट प्रक्रिया को आगे बढ़ाने पर विभिन्न बारीकियों पर चर्चा की जहां चीनी सैनिकों की वापसी अभी पूरी नहीं हुई है।

बातचीत में भारतीय प्रतिनिधिमंडल की अध्यक्षता 3 इन्फैंट्री डिवीजन के जनरल ऑफिसर कमांडिंग मेजर जनरल अभिजीत बापट ने की। यह पता चला है कि दोनों पक्षों ने सभी कई पाइंटस से सैनिकों की वापसी के लिए एक विशिष्ट समयरेखा होने पर विचार-विमर्श किया।

सैन्य वार्ता के नवीनतम दौर में, भारतीय पक्ष जल्द से जल्द चीनी सैनिकों के पूर्ण विघटन पर जोर दे रहा है, और 5 मई से पहले पूर्वी लद्दाख के सभी क्षेत्रों में स्थिति की तत्काल बहाली की जा रही है जब गतिरोध शुरू हुआ था। इससे पहले रक्षा मंत्रालय ने माना था कि गत पांच मई के बाद चीनी सैनिकों ने गलवन घाटी समेत पूर्वी लद्दाख के कई इलाकों में एलएसी का उल्लंघन किया था। चीनी सैनिक कुगरंग नाला, गोगरा और पैंगोंग लेक के उत्तरी किनारे पर 17-18 मई को घुसे थे। इसके अलावा उसने बड़ी संख्या में सैनिकों का जमावड़ा किया है। मंत्रालय के मुताबिक एलएसी पर चीनी आक्रामकता में कमी नहीं आई है और सैन्य गतिरोध लंबा खिंचने की आशंका है।

 

Top Hindi NewsLatest News Updates, Delhi Updates, Haryana News, click on Delhi FacebookDelhi twitter  and Also Haryana FacebookHaryana Twitter

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *